Your notification message!

Selected:

बाबरनामा (जीवनी)

230.00

बाबरनामा (जीवनी)

230.00

अंग्रेज़ी से हिंदी अनुवाद: युगजीत नवलपुरी

Categories: , ,
Add to Wishlist
Add to Wishlist

Description

बाबरनामा या तुज़्क-ए-बाबरी मुगल साम्राज्य के पहले सम्राट बाबर की आत्मलिखित जीवनी है। इसमें बाबर ने उज्बेकिस्तान की फरगाना वादी में गुज़ारे हुए अपने बचपन और यौवन के दिनों तथा बाद में अफ़गानिस्तान और भारतीय उपमहाद्वीप पर आक्रमण, क़ब्ज़ा और अन्य घटनाओं का विवरण दिया है। इस जीवनी में अनेक क्षेत्रों की भूमि, राजनीति, अर्थव्यवस्था, प्राकृतिक वातावरण, शहरों, इमारतों, फलों, जानवरों इत्यादि का वर्णन किया गया है। बाबर ने अपनी आत्मकथा मातृभाषा चग़ताई (तुर्की भाषा का पुराना स्वरूप) में लिखी थी। बाद में बाबर के पोते अकबर ने तुज़्क-ए-बाबरी का फ़ारसी भाषा में अब्दुर्रहीम ख़ान-ए-खाना द्वारा हिजरी 998 (1589-90) में अनुवाद कराकर किताब को चित्रों से सजाया था। भारत का मध्यकालीन इतिहास मुस्लिम शासन के समरूप है और ब्रिटिशों के आगमन के साथ आधुनिक भारत का इतिहास शुरु होता है, उनके लिए सबसे अच्छा तरीका यही है कि वे अपना अध्ययन बाबर के संस्मरणों से ही शुरू करें। ये संस्मरण अपनी कहानी स्वयं कहते हैं।
बाबरनामा का हिंदी अनुवाद समर्थ अनुवादक युगजीत नवलपुरी ने किया है।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “बाबरनामा (जीवनी)”

Your email address will not be published.

Quick Navigation
×
×

Cart